लाभ उठाने की स्वतंत्रता

 

 

We are delighted by the support you gave us and over the moon with our handsome son.

 

         

 

We could not be more grateful to you for helping us achieve our dream of becoming parents.



 

PGD के क्या लाभ हैं?

 

PGD का सबसे महत्वपूर्ण लाभ है स्वस्थ शिशु होने की अधिक सम्भावना।

 

 

बढ़ी हुई जन्म-दर

  • 35 वर्ष की उम्र : पहले चक्र में 50% जीवित जन्म-दर
    3 चक्रों में 80% जीवित जन्म-दर
  • 40 वर्ष की उम्र : पहले चक्र में 40% जीवित जन्म-दर
    3 चक्रों में 60% जीवित जन्म-दर

 

 

विकृत शिशुओं के जन्म और गर्भ समाप्त हो जाने के कम खतरे

 

महिला यदि 35-39 वर्ष की हो तो आनुवंशिक खराबी वाले बच्चे को जन्म देने की सम्भावना 1% है, और यदि वह 40-45 वर्ष की हो तो यह सम्भावना 3% है। PGD भ्रूण के असामान्य पाए जाने की स्थिति में गर्भ को समाप्त कराने की सम्भावनाओं को कम करता है। रेन्सबरी क्लीनिक द्वारा, PGD के ज़रिए गर्भधारण के 143 मामलों के आंकड़ों के अनुसार, क्रोमोसोम सम्बंधी असामान्यता के अब तक दो (1.4%) मामले सामने आए हैं, जबकि मातृत्व की इस उम्र के मरीजों के समूह में इसकी सम्भावना 2.7% थी।

 

 

स्वतः गर्भपात में कमी

 

35 वर्ष या उससे अधिक उम्र की महिलाओं में लगभग 15% स्वतः गर्भपात होते हैं, और उनमें से 50% गर्भपात कुछ असामान्यताओं के कारण होते हैं। सिर्फ सामान्य भ्रूणों को स्थानांतरित करके पूरे समय तक बनी रहने वाली गर्भावस्थाओं की संख्या बढ़ाई जा सकती है। एक अध्ययन से पता चला है कि PGD के बाद, स्वतः गर्भपात में 23% से घट कर 9% की महत्वपूर्ण कमी हुई। आरोपण में वृद्धि और स्वतः गर्भपात में महत्वूर्ण कमी के कारण गर्भ बने रहने और शिशुओं के जन्म में महत्वपूर्ण वृद्धि हुई।

 

 


                                                            Click here to complete our Enquiry Form.
                                                                        UK callers Tel 0800 545685
                                                          For callers outside the UK +44 20 3608 4426